Biography of Sriramakrishna paramhamsa by Roma Rolla Hindi pdf free download | रामकृष्ण परमहंस फ्री बुक्स रोमा रोला द्वारा | Ramkrishna Paramhans Biography In Hindi pdf download

रामकृष्ण परमहंस हिंदी पीडीऍफ़ का विवरण

पुस्तक का नाम : श्री रामकृष्ण परमहंस रोमा रोला द्वारापुस्तक के लेखक

पुस्तक की भाषा : हिंदी

पुस्तक का आकर : 10.2MB

पुस्तक में कुल प्रष्ठ : 306

ramakrishna paramahamsa in hindi
ramkrishna paramhans

Details of shri Ramkrishna Paramhans by Roma Rolla Hindi pdf | Details of shri Ramkrishna Paramhans by Roma Rolla Hindi pdf

Name of Books : shri Ramkrishna Paramhans by Roma Rolla

Book Writer :  shri Ramkrishna Paramhans

Language of Book : Hindi

Size of Ebook : 10.2MB

Total pages in shri Ramkrishna Paramhans by Roma Rolla pdf : 306

ram krishna paramhans
ramkrishna dev
ram krishna paramhans in hindi

Ramkrishna Paramhans Biography In Hindi | श्री रामकृष्ण परमहंस के बारे में संक्षिप्त विवरण | रामकृष्ण परमहंस की जीवनी | Ramkrishna Paramhans Short Biography In Hindi

श्री रामकृष्ण परमहंस की जीवनी को पढ़ना मानो किसी शास्त्र को पढ़ने के ही समान है। उनके जीवन की प्रत्येक घटना पाठक को कोई-न-कोई गहरी शिक्षा दे जाती है। रामकृष्ण परमहंस का जीवन परिचय और उनकी वाणी अज्ञान तिमिर को दूर कर भक्ति और ज्ञान का प्रकाश जीवन में लाते हैं। यह जीवनी पण्डित विद्याभास्कर शुक्ल कृत “जगमगाते हीरे” नामक पुस्तक से ली गयी है।

ramakrishna paramahamsa in hindi
ramkrishna paramhans

भारत के इतिहास में कई अद्भुत और प्रसिद्ध संत हुए, जिनके विचार और विश्वास इतने आत्मविश्वास से भरे हुए थे कि कई शानदार पुरुषों ने उनके विचारों को अपनाया और भारत के पूरे मौसम को बचाया। 1 ऐसे अद्भुत संत रहे हैं रामकृष्ण परमहंस जिनके श्रेष्ठ विचारों को अनेक महापुरुषों ने अपनाया। उनके विचार शुद्ध रहे हैं कि स्वामी विवेकानंद ने उनके विचार को अपनाया और उन्हें अपने गुरु के रूप में मान्यता दी। उन्होंने रामकृष्ण मठ की स्थापना की। रामकिशन एक्स वाई का संचालन बेलूर मठ द्वारा किया जाता है। तो आइए जानते हैं इस खास खास पोस्ट के दौरान संत रामकृष्ण परमहंस के बारे में कुछ रोचक और महत्वपूर्ण बातें।

स्वामी रामकृष्ण परमहंस की जीवन कहानी हिंदी में:

संत श्री रामकृष्ण परमहंस कलकत्ता की इस पवित्र संपत्ति के निवासी रहे हैं। वह १८ फरवरी १८३६ को बनाया गया था। वह कामारपुकुर नामक गाँव में बनाया गया था जो हुगली जिले में है। उनकी माता का नाम चंद्रमणि देवी और पिता का नाम खुदीराम चट्टोपाध्याय था। उनके बारे में एक महत्वपूर्ण बात यह है कि वे काली माता जी के परम भक्त थे। बचपन में ही उनके माता और पिता ने उनकी शादी करा दी थी। उनकी पत्नी का नाम शारदामणि है।

रामकृष्ण परमहंस की जीवनी हिंदी में:

श्री रामकृष्ण परमहंस को भारत के इतिहास में एक बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान की आवश्यकता थी। उन्होंने भारत के हित में कई अद्भुत कार्य किए हैं। उन्होंने अपनी किशोरावस्था से ही भारत में गरीब लोगों के हित में काम करना शुरू कर दिया था। इसके तहत उन्होंने रामकृष्ण मिशन की शुरुआत की। उन्होंने मुक्त आश्रम, नि:शुल्क अस्पताल, पूरी तरह से नि:शुल्क शिक्षा केंद्र आदि की स्थापना की थी, क्योंकि भारत के हर कोने में गरीबों को रखा गया था। यही कारण था कि भारत के अधिकांश लोग उनका दिल से सम्मान करते थे।

स्वामी रामकृष्ण परमहंस का इतिहास हिंदी में:

यदि आप संत श्री रामकृष्ण परमहंस की विरासत के बारे में कुछ आवश्यक जानकारी चाहते हैं, तो हमारा यह विशिष्ट सूचनात्मक लेख आपको सलाह प्रदान करेगा। संत रामकृष्ण बचपन से ही काली मां के अनन्य भक्त थे। वह बचपन से ही मानते थे कि ईश्वर मौजूद है और दृश्यमान है। यही कारण था कि उन्हें अपने पुश्तैनी और परिवार से कोई लगाव नहीं था।

सेवानिवृत्त होने के बाद, उन्होंने अपना जीवन काली माता की वफादारी में समर्पित कर दिया। कहा जाता है कि जब वे मां काली की भक्ति में लीन थे, तब उन्हें देवी मां के दर्शन हुए थे और तब भी वे दुनिया की हर महिला को मां काली के रूप में देखते थे।

रामकृष्ण परमहंस विकी हिंदी में:

दरअसल श्री रामकृष्ण का असली नाम गदाधर चट्टोपाध्याय रहा है। वे सभी धर्मों और वेदों से परिचित थे। यहां तक ​​कि उन्होंने अपना पूरा जीवन भारतीय समाज के हित में बिताया। उन्होंने बंगाल के हर हिस्से में मुफ्त अस्पताल और स्कूल खोले थे, जो अब भी हो सकते हैं। इसी पवित्र विचार के कारण उनका नाम संत रामकृष्ण पड़ा।

उन्होंने भारत के कोने-कोने में अपनी शिक्षाओं की जानकारी सभी के साथ साझा की। यह उन बुनियादी कारणों में से एक था कि महान स्वामी विवेकानंद भी अपने विचारों और शिक्षाओं के प्रति आश्वस्त हो गए और उनकी प्रतिभा के कारण उन पर विश्वास किया और उनके विचारों को अपने जीवन में अपनाया।

Ramkrishna Paramhans Biography In English | short description about Ramkrishna Paramhans in English | Ramkrishna Paramhans Short Biography in English

Reading the biography of Sri Ramakrishna Paramhansa is like reading a scripture. Every incident of his life gives some deep lesson to the reader. Ramakrishna Paramahansa’s life introduction and his speech remove the darkness of ignorance and bring the light of devotion and knowledge to life. This biography is taken from the book “Jaggamate Hire” by Pandit Vidyabhaskar Shukla.

ram krishna paramhans
ramkrishna dev
ram krishna paramhans in hindi

There were many amazing and famous saints at the history of India, whose thoughts and believing proved so confident that many fantastic men embraced their thoughts and saved the entire season of India. 1 such amazing saint has been Ramakrishna Paramhansa whose elevated thoughts were adopted by lots of fantastic men. His thoughts have been pure that Swami Vivekananda had adopted his idea and recognized him as his guru. He founded the Ramakrishna Math. Ramkishan X Y is conducted by Belur Math. Therefore let’s let you know a few interesting and important things about Sant Ramakrishna Paramahansa during this particular specific post.

SWAMI RAMKRISHNA PARAMHANS LIFE STORY IN HINDI :

Saint Shri Ramakrishna Paramhansa has been a resident of this holy property of Calcutta. He had been created on 18 February in 1836. He had been created at a village called Kamarpukur that has been in Hooghly district. His mother’s name has been Chandramani Devi and daddy’s name was Khudiram Chattopadhyay. An important things about him is that he was the ultimate devotee of Kali Mata ji. His mother and dad got him married in his childhood. His wife’s name has been Shardamani.

BIOGRAPHY OF RAMAKRISHNA PARAMHANSA IN HINDI :

Shri Ramakrishna Paramhansa needed a very significant place in the history of India. He has achieved many wonderful works in the interest of India. He started in the interest of poor people in India from his teenage years. He began the Ramakrishna Mission underneath this. He’d established liberated ashrams, free of charge hospitals, totally free education centers, etc. because of its poor in every corner of India, due to what the poor of India were stored. This was a reason that most the people of India respected him by one’s heart.

SWAMI RAMKRISHNA PARAMHANS HISTORY IN HINDI :

If you want some rather essential info regarding the heritage of Sant Shri Ramakrishna Paramhansa, then this specific informative article of ours will provide you advice. Since childhood, Saint Ramakrishna was a wonderful devotee of Kali Maa. He believed since childhood that God exists and is visible. This was the reason why he had no attachment for his or her ancestral and family .

After retiring, he devoted his lifetime into the loyalty of Kali Mata. It is said when he was absorbed in the loyalty of Mother Kali, he had a vision of Mother Goddess and also then he used to observe every woman in the world as Maa Kali.

RAMKRISHNA PARAMHANS WIKI IN HINDI :

Actually Shri Ramakrishna’s real title has been Gadadhar Chattopadhyay. He had familiarity with all religions and Vedas. He even spent his entire life within the interest of the Indian society. He had opened free hospitals and schools at every portion of Bengal, which might be still there. Due to this sacred thought , he got the name of Sant Ramakrishna.

He shared the information of his own teachings with everybody else in every corner of India. This was one of those basic reasons that the great Swami Vivekananda also became convinced of his own thoughts and teachings and believed him because his genius and adopted his ideas in his own life.

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply

free books
Logo
Enable registration in settings - general